‘दामिनी’ की मां ने कहा, नबालिग को मिले मौत की सजा

On: 25 January, 2013

नई दिल्ली: दिल्ली गैंगरेप पीडि़ता ‘दामिनी’ की मां का कहना है कि सबसे ज्यादा बर्बरता नबालिग ने दिखाई थी इसलिए उसे भी हर हाल में मौत की सजा मिलनी चाहिए।दामिनी की मां ने बताया कि नाबालिग ने ही पीडि़ता को सबसे ज्यादा यातना दी थी। दो बार दुष्कर्म करने के बाद इस नाबालिग ने ही पीडि़ता के शरीर में जंग लगी लोह की रॉड तक डाल दी जिससे उसके संवेदनशील अंग बर्बाद हो गए। जहां पांच को मौत की सजा या उम्रकैद हो सकती है, वहीं नाबालिग आरोपी को महज 3 वर्ष की ही सजा होने की संभावना है।गौरतलब है कि हमारे देश के कानून के मुताबिक 18 वर्ष से कम आयु के आरोपी को बड़े से बड़े अपराध के लिए अधिकतम तीन वर्ष की सजा का ही प्रावधान है। सजा होने के बाद बाल सुधार गृह में भेज दिया जाता है, जहां आरोपी अपनी सजा पूरी करता है।