साई गिरफ्तारी वारंट रद्द करने की मांग को लेकर पहुंचा हाईकोर्ट

On: 25 November, 2013

अहमदाबाद। यौन उत्पीडन मामले में फरार चल रहे आसाराम बापू के पुत्र नारायण साई ने अपने खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट रद्द करने की मांग की है जो सूरत की एक अदालत ने पिछले माह उसके खिलाफ जारी किया है। साई के खिलाफ यह वारंट सूरत की दो बहनों द्वारा उसके खिलाफ यौन उत्पीडन का मामला दर्ज कराए जाने के सिलसिले में जारी किया गया है। साई की याचिका पर कल सुनवाई होने की संभावना है। सूरत पुलिस ने जहांगीरपुरा पुलिस थाने में 6 अक्तूबर को, फरार साई और आसाराम के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। यह प्राथमिकी उन दोनों बहनों की शिकायत पर दर्ज कराई गई थी जिन्होंने पिता-पुत्र के खिलाफ यौन उत्पीडन का आरोप लगाया था। दोनों बहनों में से छोटी बहन ने आरोप लगाया था कि साई ने वर्ष 2002 से 2005 के बीच उसका कई बार यौन उत्पीडन किया। इस अवधि में वह आसाराम के सूरत स्थित आश्रम में रह रही थी। सूरत की अदालत ने प्राथमिकी के सिलसिले में 28 अक्तूबर को साई के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। साई अब तक फरार है।